Lavanya Textile Design: Share Market की जोखिम से बचना चाहते हैं तो ETF में निवेश करें

Share Market की जोखिम से बचना चाहते हैं तो ETF में निवेश करें

ETF यानि Exchange Traded Fund क्या है ?

ईटीएफ को एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ETF Full Form Exchange Traded Fund) कहा जाता है। यदि आप Share Market  की जोखिम से बचना चाहते हैं तो आप ETF  में निवेश कर सकते हैं। क्योंकि यहां पर बहुत सारे शेयर्स कंपनियों को मिलाकर एक ग्रुप ईटीएफ
etf stock
फंड बनाया गया है। ETF  के द्वारा जब निवेश करते हैं तो आपका पैसा किसी एक फंड में नहीं लगता है बल्कि Mutual Fund की तरह एक ग्रुप में आपका पैसा निवेश होता है। जिससे जोखिम की संभावना कम हो जाती है। इसलिए आप Share Market की जोखिम से बचना चाहते हैं तो ईटीएफ में निवेश कर सकते हैं। क्योंकि ETF share price भी म्यूच्यूअल फंड की तरह होता है। फर्क सिर्फ इतना है कि इसमें हम जब चाहे तब निवेश कर सकते हैं और जब चाहे तब Exit कर सकते हैं जबकि Mutual Fund में ऐसा नहीं हो पाता है।

ETF शेयर मार्केट की तरह काम करता है। लेकिन इसमें बहुत सारे फंडो को मिलकर एक ग्रुप फंड बनाया गया है। जैसे mutual fund है ठीक उसी तरह ETF के भी फण्ड हैं। दोनों में फर्क (ETF vs Mutual fund) यह है कि Mutual Fund में हम Share Market की तरह रोज खरीद और बेच नहीं सकते लेकिन ETF फंड को हम कभी भी खरीद और बेच सकते हैं। ETF फंड बहुत सारे Securities  की एक टोकरी है जो स्टॉक की तरह व्यापार करती है और आपूर्ति और मांग के आधार पर दिन भर में एक्सचेंज में सूचीबद्ध होती है। ईटीएफ शेयर मार्केट की तरह व्यापार करता है, एक ईटीएफ का शुद्ध संपत्ति मूल्य (NAV) नहीं होता है। ईटीएफ और अन्य प्रकार के इंडेक्स फंडों के बीच अंतर यह है कि ईटीएफ अपने संबंधित इंडेक्स को बेहतर बनाने की कोशिश नहीं करते हैं, लेकिन इसके प्रदर्शन को दोहराते हैं। हालांकि ईटीएफ काफी समय से अस्तित्व में है, लेकिन उन्होंने पारंपरिक Mutual Fund का आनंद लेने के लिए उस तरह की लोकप्रियता ETF In India में हासिल नहीं की है लेकिन भारत में भी ETF Investment बढ़ने की बहुत संभावना है।

विभिन्न प्रकार के ईटीएफ हैं:

Gold ETF : फिजिकल सोने का प्रतिनिधित्व करने वाली इकाइयाँ हैं जो कागज या डिमैटरीकृत रूप में हो सकती हैं। इन इकाइयों का विनिमय किसी भी कंपनी के एकल स्टॉक की तरह होता है। वे निवेशकों को सोने की भौतिक डिलीवरी लेने की आवश्यकता के बिना सोने के बुलियन बाजार में भाग लेने का एक साधन प्रदान करते हैं।

Index ETF
इंडेक्स ईटीएफ ईटीएफ का प्रकार है जिसका मूल्य इंडेक्स से लिया गया है।

विभिन्न प्रकार के Index ETF उपलब्ध है :

NIFTY BeES : एक ईटीएफ बेंचमार्क म्यूचुअल फंड द्वारा जनवरी 2002 में लॉन्च किया गया था।
Junior BeES: CNX निफ्ट जूनियर पर एक ETF, फरवरी 2003 में बेंचमार्क म्यूचुअल फंड द्वारा लॉन्च किया गया।
SUNDER: UTI द्वारा जुलाई 2003 में एक ETF लॉन्च किया गया।
Liquid BeES: जुलाई 2003 में बेंचमार्क Mutual Fund द्वारा शुरू किया गया एक ईटीएफ।
Bank BeES : ETF को बेंचमार्क म्यूचुअल फंड ने मई 2004 में लॉन्च किया था।
Shariah: Goldman Sachs CNX Nifty शरिया इंडेक्स एक्सचेंज ट्रेडेड स्कीम 22 अगस्त, 2011 को लैंच हुई।
International ETF: अंतर्राष्ट्रीय ईटीएफ विदेशी-आधारित प्रतिभूतियों में निवेश करता है। इन ETF में अंतर्निहित ट्रैकिंग उपकरण के रूप में NASDAQ, HANG SENG जैसे अंतर्राष्ट्रीय सूचकांक हैं।

Sector Specific ETF:
इन ईटीएफ में एक विशिष्ट क्षेत्र होता है जैसे कि बुनियादी ढांचा और अंतर्निहित ट्रैकिंग उपकरण के रूप में बैंक है ।

ETF के लाभ:

ETF में ट्रेडिंग सुविधाजनक है क्योंकि शेयर मार्केट के दौरान इसका भी कारोबार होता है। वितरण की लागत कम है और पहुंच व्यापक है क्योंकि ईटीएफ को एक्सचेंज में सूचीबद्ध किया गया है। ईटीएफ में सिंगल यूनिट खरीदना संभव है। Index Fund ईटीएफ के समान ही उच्च पारदर्शिता वाला है। इसमें न्यूनतम निवेश One Unit है

No comments

Post a Comment

Thanks for visit my website.