-->

Dec 8, 2021

करौली सरकार कहां स्थित है और कैसे जाएं || Eshwariya chikitsa Dham Karauli Sarkar

करौली सरकार (Karoli sarkar Kanpur) आने वाले तमाम भक्तों और श्रद्धालुओं के प्रश्न और उनकी समस्याओं समाधान के लिए यह लेख लिखा गया है। सबसे पहला सवाल कि करौली सरकार का दरबार कहां पर स्थित है? करौली सरकार (Karauli Sarkar) का दरबार कानपूर जिले के करौली गांव में स्थित है। इसकी स्थापना परम पूज्य गुरुदेव श्री राधा रमण मिश्र और गुरु माता कामरु कामाख्या के आशीर्वाद और कृपा से कानपुर के करौली गांव में हुई थी। यह स्थान कानपुर सेन्ट्रल रेलवे स्टेशन से करीब 16 किलोमीटर दूर है। 
 
अगर आप ट्रेन से आते हैं और कानपुर सेंट्रल रेलवे स्टेशन पर उतरते हैं। तो आपको बाहर घंटा घर वाले साइड निकलना है। वहां से आपको रामादेवी चौराहा के लिए ऑटो मिल जायेगा। रामादेवी चौराहा आपको ऑटो वाले 8 से 10 रूपये में पहुंचा देंगे। रामादेवी चौराहा पहुंचकर वहां पूछें कि मुझे करौली सरकार (Karauli Sarkar) जाना है। रामादेवी चौराहा से आप  करौली सरकार जाने के लिए टेंपो पूछे या पूछें पीपरगावा जाने के लिए टैम्पू कहा मिलता है।  उसी चौराहे पर सब्जी मंडी के पास टैक्सी स्टैंड है। जहा पर 8-10 रूपये देकर करौली गांव आ सकते हैं। गाड़ी वाले आपको बगहारा मोड़ पर उतारेंगे और वहां से करौली ग्राम डेढ़ किलोमीटर रह जाता है। 
 
Karauli Sarkar location, Karauli Sarkar Dham, Karauli Sarkar ki yatra, Karauli Sarkar Kaise jaen, Karauli Sarkar ki Duri, Karauli Sarkar Ke a Niyam

यदि आप गोवा से करौली सरकार आना चाहते हैं तो कम से कम आपका 1000 रुपया किराया लग जाएगा, क्योंकि गोवा से कानपुर के लिए कोई भी डायरेक्ट ट्रेन नहीं है। करौली सरकार उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में पड़ता है। यहां आने के लिए सबसे पहले आपको गोवा में जो वास्कोडिगामा रेलवे स्टेशन पड़ता है वहां से आपको भोपाल आना पड़ेगा और भोपाल से कानपुर के लिए दूसरा ट्रेन पकड़ना पड़ेगा। उसके बाद आपको ऑटो द्वारा कानपुर से करौली सरकार आना पड़ेगा। यह स्थान कानपुर सेन्ट्रल रेलवे स्टेशन से करीब 16 किलोमीटर दूर है। ट्रेन से आते हैं तो कानपुर सेंट्रल रेलवे स्टेशन से  घंटा घर वाले साइड आना है। वहां से आपको रामादेवी चौराहा के लिए ऑटो मिलेगा। उसके बाद रामादेवी चौराहा से 10 रूपये करौली सरकार (Karauli Sarkar) का लगता है। रामादेवी चौराहा से आप  करौली सरकार जाने के लिए टेंपो पूछे या पूछें पीपरगावा जाने के लिए टैम्पू कहा मिलता है। गाड़ी वाले आपको बगहारा मोड़ पर उतारेंगे और वहां से करौली ग्राम डेढ़ किलोमीटर पड़ता है। 

करौली गांव में लव कुश आश्रम है, जो 7 एकड़ में फैला हुआ है। जहां पर परम पूज्य गुरुदेव व गुरु माता का दरबार सजा हुआ है। यह बिल्कुल सुरक्षित स्थान है कोई भी डर भय नहीं है। जब आप दरबार में आते हैं तो यहां दिन की जो दिनचर्या है वह बहुत सरल है। प्रातः काल 9:00 बजे से पूजनीय बाबाजी व पूजनीय माता जी की अर्जी लगती है जो कि 2:00 बजे तक आप लगा सकते हैं। ऐसे ही बंधन जो कमर में लगते हैं वह प्रातः काल 9:00 से 1:00 बजे तक लगता है। 1:00 बजे से संकल्प का समय शुरु होता है जो दोपहर के 1:00 से 2:00 के बीच होता है। जिसमें प्रेतों की शक्तियां छीनना और अगर आपके शरीर में प्रवेश करने वाले प्रेतों को उनको वापस भेजना जैसी सारी क्रिया संपन्न होती है। दरबार का जो नियम है वह यहाँ की परंपरा का हिस्सा है उसका पालन करना न करना आपकी मर्जी है। दरबार आपसे करवाने के लिए कतई बाध्य नहीं है। दरबार की सिंपल दो विधियां हैं या तो हवन करें या नमन करें। यदि आपके अंदर दरबार के प्रति श्रद्धा व आस्था है तो आप इस दरबार में निरंतर हाजिरी और अर्जी लगाकर भी अपनी समस्याओं से मुक्त हो सकते हैं। दूसरी है हवन की विधि, यह इसलिए बताई जाती है की हवन से आपकी जो समस्याएं हैं वह एक निश्चित सीमा के अंदर दूर हो जाती है। हवन से आप हमेशा-हमेशा के लिए प्रेत बाधा और समस्याओं से निजात पा सकते हैं। दूसरी बात भूत-प्रेत बिल्कुल भी संकट नहीं है। असली संकट है आप का डर, और यह डर देश के तमाम मदारियों के लिए रोजी रोटी का साधन बना हुआ है। इसलिए आप दरबार आकर अपनी समस्याओं से हमेशा के लिए निजात पा सकते हैं। 
रौली सरकार पूर्वज मुक्तिधाम कानपुर में आपका स्वागत है 

पूरी जानकारी के लिए डाउनलोड करें Mobile App

कृपया, नियमों व निर्देशों को ठीक से पढ़ व समझकर ही दरबार आएं।


{1}  दरबार आकर आपको पंजीकरण कराना होता है, उसके बाद आपको उपचार कराने की आईडी दी जाती है।
{2}  पंजीकरण के पश्चात आपको काउंटर से ही भोग प्रसाद (अर्जी) व बंधन प्राप्त करना होता है।

{3} बाबाजी व माताजी के दरबार में अपने उपचार के लिए प्रार्थना करनी होती है, भोग प्रसाद चढ़ाना होता है। बंधन करना होता है।

{4} उपचार के लिए 9 हवन करने होते हैं।

{5} 9 हवन के पश्चात आने वाली अमावस्या पर आपके पूर्वजों की मुक्ति होती है।

{6} शिव-शक्ति दरबार में प्रतिदिन शाम को पांच बजे से ब्लैक मैजिक संकल्प होता है, इसके लिए तीन बजे तक दरबार में पहुंचना आवश्यक होता है। इसी कार्यक्रम में डीएनए ब्रेक किया जाता है।

 {7}  प्रतिदिन सुबह 9 बजे से सर्व रोग स्मृति चिकित्सा होती है।

{8} परिवार के सभी सदस्यों का ब्लैक मैजिक संकल्प होने के बाद ही सर्व रोग स्मृति चिकित्सा होती है।

{9} परिवार के प्रत्येक सदस्य की स्मृति चिकित्सा के बाद सभी को पूर्ण आराम व लाभ प्राप्त होता है।

NOTE: यदि आप हवन करने में सक्षम नहीं है तो दरबार की दूसरी विधि (नमन) के द्वारा नियमित रूप से प्रत्येक शनिवार को दरबार में अर्जी एवं हाजिरी लगाकर अथवा अपने घर से ही अपनी श्रद्धा एवं विश्वास के बल पर, बाधाओं से मुक्ति पा जाते हैं।

करौली सरकार पता (Karauli Sarkar address)

मानव मंदिर , लव कुश आश्रम, ग्राम – करौली , कानपुर (उ. प्र.) – 208021 (रामा देवी चौराहा से , सनिगवाँ रोड पर , कोरियाँ पुलिस चौकी के पास)

FAQ.
Que.1- करौली सरकार कहां पर स्थित है ? (Where is the Karauli government located?)
Ans. करौली सरकार कानपुर से 16 किलोमीटर दूर करौली ग्राम में स्थित है। वहीं पर करौली सरकार का यह लव कुश आश्रम है। (Karauli Sarkar is located in Karauli village, 16 km away from Kanpur. At the same time, this is the Luv Kush Ashram of the Karauli government.)
Que.2- करौली सरकार जाने का रास्ता क्या ? (What is the way to go to Karauli government?)
Ans. कानपुर सेंट्रल रेलवे स्टेशन से रामादेवी चौराहा जाना है। फिर वहां से पीपरगावा जाना है।  पीपरगावा के पास ही करौली गांव है। (From Kanpur Central Railway Station one has to go to Ramadevi Chauraha. Then from there to go to Pipargawa. Karauli village is near Pipargawa.)
Que.2- करौली सरकार में क्या होता है ? (What happens in Karauli government?)
Ans. कानपुर: करौली सरकार में लोगों बीमारी और बाधाएं दूर किया जाता है। (Kanpur: In Karauli government, people's illness and obstacles are removed.)
Que.2- करौली सरकार लाइव ईश्वरीय चिकित्सा के गुरु कौन ? (Karauli Sarkar Live Who is the Guru of Divine Medicine?)
Ans. करौली सरकार लाइव ईश्वरीय चिकित्सा के गुरु राधा रमण मिश्र हैं। (The Guru of Karauli Sarkar Live Divine Medicine is Radha Raman Mishra.)

1 comment:

Thank you for visiting our website.