How to become a great textile designer


फैशन एक तेजी से बढ़ता उद्योग है। अब हर दिन एक नया चलन शुरू हो जाता है। फैशन के इन Trends को
डिजाइनरों द्वारा तैयार  किया जाता है जो डिजाइनिंग के जानकर हैं वे कपड़े से सुंदरता को उकेरते हैं। फैशन सिर्फ ब्रांडेड कपड़ों के साथ रैंप पर चलने वाले लोगों के ऊपर नहीं टिका है। इंडस्ट्री में जिस तरह के ब्रांड की तलाश हर किसी को होती है, उसे बनाने में कई साल लग जाते हैं। Fashion Industry दुनिया भर के कई मनुष्यों की जीवन रेखा है। कहा जा रहा है, हमें फैशन की दुनिया में एक ऐसे उप-समूह की उपस्थिति को स्वीकार करने की आवश्यकता है, जिन्होंने हमें फैशन की दुनिया में सबसे मूल तत्व प्रदान किया है वह कपड़ा डिजाइनर।

टेक्सटाइल डिज़ाइनर कैसे बनें?

 टेक्सटाइल डिज़ाइन में कैरियर बनाने के लिए स्टूडेंट्स को किसी भी स्कूल से 12वीं या ग्रेजुएशन पास होना चाहिए। 12वीं के बाद Diploma in Textile Designing या Bachelor in Textile Designing जैसे कोर्स आप कर

सकते हैं। ग्रेजुएशन के बाद इस सेक्टर में Master Course भी किया जाता है। टेक्सटाइल डिज़ाइनर लैब मैनेजर के रूप में काम करते हैं। कपड़े पर कौन सा रंग जंचेगा तथा कौन सा कपड़ा प्रयोग करना है। इन सभी कार्यों की जिम्मेदारी लैब मैनेजर को देखना पड़ता है। Textile Designer को कपड़े के ऊपर डिज़ाइन प्रिंट करवाने की जिम्मेदारी होता है। इसके साथ ही उसे Fabric के ऊपर टेक्सचर या प्रिंट को डिज़ाइन करना होता है। Textile designer को पहले Fabric और Textur से जुड़े प्रयोग करने पड़ते हैं उसके डिज़ाइन का सैंपल प्रिंट करवाना होता है । वंही दूसरी ओर अपने प्रोजेक्ट के द्वारा क्लाइंट्स को खुश करना होता है। इसके उसे प्रेजेंटेशन पर भी ध्यान देना होता है

कपड़ा डिजाइनर कौन हैं?


 टेक्सटाइल डिज़ाइनर ऐसे प्रोफेशनल्स होते हैं जो टेक्सटाइल बनाने और डिजाइन करने वाले टेक्सटाइल को प्रोडक्ट के रूप में इस्तेमाल करते हैं, और कई अन्य उत्पाद जैसे जूते, कंगन आदि। यह Fashion Designing से बहुत अलग होता है, जैसा कि वें उत्पाद के कार्यात्मक मूल्य में है। सिर्फ सौंदर्यशास्त्र में ध्यान केंद्रित नहीं किया जाता  बल्कि उससे जुड़े कई पहलुओं पर ध्यान दिया गया। Textile Designer कपड़े की डिजाइनिंग में वह विभिन्न प्रक्रियाओं जैसे बुनाई और बुनाई आदि द्वारा यार्न तैयार करना। इस प्रकार यह फैशन की दुनिया के तकनीकी और मौलिक पहलू है।

टेक्सटाइल डिजाइनिंग के क्षेत्र में कैसे आएं?


पहली बात यह है कि यदि आप कपड़े और इस क्षेत्र में मौजूद हर चीज को जानने के लिए उत्सुक हैं, तो आपको इसके विषय क्षेत्र को देखना होगा। आपको चीजों पर एक रचनात्मक दृष्टिकोण रखने की आवश्यकता है और कपड़े या धागे की बनावट के साथ-साथ किस आकार के साथ क्या रंग जाता है, इसके साथ एक अंतर्ग्रहण की आवश्यकता होती है। जाहिर है यह एक ऐसा कौशल नहीं है जिसे आप सुबह शुरू किये और शाम को सब सीख गये। आपको इसे विकसित करने की आवश्यकता है, जैसा कि आप कपड़ों पर डिजाईन के लिए अधिक समय बिताते हैं और उन्हें समझने के तरीके सीखते हैं। शिक्षाविदों के संदर्भ में आप तब तक बहुत महत्वपूर्ण डिज़ाइनर नहीं है जब तक कि आप फ़ेविक डिज़ाइनिंग ज़ोन में एक कौतुक हासिल नहीं किये हैं और इस उद्योग में आपको निम्नलिखित चरणों का पालन करने की आवश्यकता है:
  1. एक कैरियर के रूप में आप कंपनियों के लिए काम करते हुए कपड़ों का अच्छा डिजाइन जब तक विकसित नहीं करेंगे तब तक आपका कोई मूल्य नहीं होगा।  
  2. आप नए प्रकार के कपड़ों का परीक्षण करेंगे और वे कुछ कपड़ों के साथ कैसे मैच करेंगे। यह सारी जानकारी आपको होनी चाहिए। 
  3. आप एक फ्रीलांसर के रूप में भी काम कर सकते हैं । आपको इंटीरियर डिजाइनिंग उद्योग में नौकरियां मिलेंगी और फ़्रीचर, बेड लाइन, कालीन आदि का भी काम मिल सकता है। 

आप टेक्सटाइल डिज़ाइनर के रूप में कितनी कमाई करेंगे? 

एक Textile Designer का औसत वेतन  300000 रूपये हो सकता है, इसमें आपका अनुभव और स्थान के साथ-साथ आपके द्वारा काम की गई कंपनियों के साथ रिलेशन पर निर्भर है। शुरुआत में वेतन थोड़ा कम होगा, लेकिन समय के साथ आपके वेतन में सुधार होगा।

0 Comments:

Thanks for visit my website.